कोयला उत्पादन एवं प्रेषण में एनसीएल ने पार किया जादुई आंकड़ा, पढ़े पूरी खबर

देश की प्रमुख मिनिरत्न कोयला कंपनी , नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल)  " बिजली की बुनियाद"  की पर्याय बनी हुई है ।  वर्ष 2022-23 के अंतिम सप्ताह में कंपनी हर दिन नया  इतिहास रच रही है।

कोयला उत्पादन एवं प्रेषण में  एनसीएल ने पार किया जादुई आंकड़ा, पढ़े पूरी खबर
कोयला उत्पादन एवं प्रेषण में एनसीएल ने पार किया जादुई आंकड़ा,

नई दिल्ली : देश की प्रमुख मिनिरत्न कोयला कंपनी , नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल)  " बिजली की बुनियाद"  की पर्याय बनी हुई है ।  वर्ष 2022-23 के अंतिम सप्ताह में कंपनी हर दिन नया  इतिहास रच रही है। 28/03/2023 को कंपनी ने 130 मिलियन टन  कोयला उत्पादन के जादुई आंकड़े को पार करते हुए  130.06 मिलियन टन कोयले का उत्पादन किया है । 

एनसीएल ने बिजली घरों सहित अपने उपभोक्ताओं को अभी तक 132 मिलियन टन से अधिक कोयला भेज कर ऐतिहासिक उपलब्धि दर्ज की है । सतत खनन की अवधारणा को जीवंत बनाते हुए कंपनी ने अधिभार हटाव मे अभी तक 27.78% की भारी  वार्षिक वृद्धि के साथ शानदार 458.88 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाया है जो वर्तमान के उत्कृष्ट प्रदर्शन के साथ ही भविष्य मे भी देश की आकांक्षा के अनुरूप कंपनी को कोयला उत्पादन एवं प्रेषण के लिए मार्ग प्रशस्त करेगा । 

कंपनी ने विगत सोमवार(27/03/2023) को 16.07 लाख क्यूबिक मीटर अधिभार हटाकर एक बार पुनः अपनी स्थापना से अभी तक का अधिकतम अधिभार हटाव मे नया मानक गढ़ा है । एनसीएल ने विगत 11 मार्च 2023 को ही उत्पादन प्रेषण एवं अधिभार के पिछले वर्ष मे हासिल किए गए आंकड़ों को पार कर लिया था ।  उल्लेखनीय है कि एनसीएल कि लगभग सभी उत्पादन इकाई अपने वार्षिक उत्पादन लक्ष्य को हासिल कर चुकी हैं ।
 
इस विशेष उपलब्धि का श्रेय खदानों मे कार्यरत एनसीएल कर्मियों एवं परियोजनाओं के महाप्रबंधक एवं उनकी टीम को देते हुए सीएमडी एनसीएल श्री भोला सिंह एवं निर्देशक(तकनीकी/संचालन) डॉ अनिंद्य सिन्हा, निर्देशक(कार्मिक), श्री मनीष कुमार, निर्देशक (वित्त) श्री रजनीश नारायण एवं निर्देशक(तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री जितेंद्र मालिक ने  उन्हे नित नए शिखर छूते  रहने का आह्वान किया। 

कंपनी ने कोयला निकासी अधोसंरचना के विकास , मशीनीकरण , खदान विस्तारिकरण , नवाचार एवं तकनीकी व  अन्य मदों पर फरवरी माह के अंत तक 1905 करोड़ से अधिक खर्च  कर पूंजीगत व्यय के वार्षिक लक्ष्य को पूर्व में ही हासिल कर लिया है  । एनसीएल को इस वर्ष 122 मिलियन टन कोयला उत्पादन एवं प्रेषण के साथ 410 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाने का लक्ष्य दिया गया था।

यह भी पढ़ें : एनटीपीसी कोलडैम को एचआर और सीएसआर में उत्कृष्टता के लिए प्लेटिनम पुरस्कार से किया गया सम्मानित